• ट्रायथलन रेस में एथलीट को तैराकी, दौड़ और साइकिलिंग करनी होती है
  • 463.5 किमी की एंडुरोमन रेस लंदन से शुरू होकर पेरिस में खत्म हुई

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 07:33 AM IST

खेल डेस्क. भारतीय एथलीट मयंक वैद ने दुनिया की सबसे कठिन रेस एंडुरोमन ट्रायथलन को रिकॉर्ड समय 50 घंटे 24 मिनट में जीत लिया। उन्होंने पिछले वर्ल्ड रिकॉर्ड को 2 घंटे 6 मिनट के बड़े अंतर से तोड़ा। इससे पहले बेल्जियम के जूलियन डेनेयर ने 52 घंटे 30 मिनट में यह रेस जीती थी। मयंक यह रेस जीतने वाले एशिया के पहले और दुनिया के 44वें एथलीट बन गए।

 

एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में मंयक ने कहा, ‘‘यह दुनिया की सबसे पॉइंट टू पॉइंट ट्रायथलन रेस है। दुनिया में अब तक इसे सिर्फ 44 लोग ही जीत सके हैं। इससे ज्यादा लोग माउंट एवरेस्ट पर चढ़ चुके हैं। यह वास्तव में दुनिया की सबसे कठिन और क्रूर ट्रायथलन है।’’

 

 

दौड़ के लिए मयंक ने 16 घंटे 35 मिनट का समय निकाला

मयंक ने दौड़ के लिए 16 घंटे 35 मिनट, तैराकी में 12 घंटे 48 मिनट और साइकिलिंग के लिए 13 घंटे 29 मिनट का समय निकाला। साथ ही मयंक ने पहले ट्रांजिशन में 5 घंटे 12 मिनट और दूसरे ट्रांजिशन में 2 घंटे 20 मिनट का समय लिया। ट्रांजिशन वह समय होता है, जिसमें प्रतियोगी एक प्रतियोगिता से दूसरी तक पहुंचने के लिए समय लेता है।

 

 

प्रतियोगियों ने 33.8 किमी तैरकर चैनल पार किया

यह एंडुरोमन ट्रायथलन रेस लंदन के मार्बल आर्क से शुरू हुई थी। इसमें प्रतियोगियों ने शुरुआत में 140 दौड़ लगाई। इसके बाद केंट तट से प्रतियोगियों ने 33.8 किमी तैरकर चैनल पार किया और फ्रांस के तट पर पहुंचे। यहां से प्रतियोगियों ने 289.7 किमी साइकिल चलाकर पेरिस में रेस खत्म की।

 

DBApp





Source link