• एनपीए कम बताने समेत कई खामियों के आरोप
  • बैंक नए कर्ज नहीं दे पाएगा, पुराने कर्ज रिन्यू करने पर भी रोक
  • बैंक में ग्राहकों के 11000 करोड़ रुपए जमा

Dainik Bhaskar

Sep 24, 2019, 06:27 PM IST

मुंबई. आरबीआई ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) पर 6 महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिए। इसके मुताबिक पीएमसी बैंक नए लोन नहीं दे सकेगा, ना ही पुराने लोन रिन्यू कर सकेगा। कोई निवेश नहीं कर सकेगा ना ही कर्ज या जमा ले सकेगा। खाताधारक 1000 रुपए से ज्यादा नहीं निकाल सकेंगे। आरबीआई ने मंगलवार को ये निर्देश जारी किए। बैंक के पास ग्राहकों के 11,000 करोड़ रुपए जमा हैं।

 

लाइसेंस रद्द नहीं किया, सिर्फ प्रतिबंध लगाए: आरबीआई

बैंक की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक 2018-19 में मुनाफा 1.20% घटकर 99.69 करोड़ रुपए रह गया। नेट एनपीए 1.05% से बढ़कर 2.19% पहुंच गया। पीएमसी बैंक पर एनपीए कम बताने समेत प्रबंधन में कई तरह की खामियों के आरोप हैं। हालांकि, आरबीआई ने स्पष्ट किया कि पीएमसी का लाइसेंस रद्द नहीं किया गया है। वह अगले आदेश तक प्रतिबंधों के साथ बैंकिंग कारोबार जारी रख सकता है। लेकिन, आरबीआई की मंजूरी के बिना फैसले नहीं लिए जाएंगे। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि आरबीआई ने पीएमसी के बोर्ड से अधिकार छीन लिए हैं। खातों की जांच की जा रही है।

 

पीएमसी की 137 शाखाएं 

पीएमसी अरबन को-ऑपरेटिव बैंक है। महाराष्ट्र, नई दिल्ली, कर्नाटक, गोवा, गुजरात, आंध्रप्रदेश और मध्यप्रदेश में इसका कामकाज है। इसकी 137 शाखाएं हैं। यह देश के टॉप-10 को-ऑपरेटिव बैंकों में शामिल है। बैंक की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक 31 मार्च तक कर्मचारियों की संख्या 1,814 थी।

 

DBApp

 



Source link