• ममता की अपील- आइए संवैधानिक अधिकारों की रक्षा के लिए एक बार फिर शपथ लें
  • इंटरनेशनल डेमोक्रेसी डे पर कहा- संवैधानिक मूल्यों को बचाने के लिए कोशिश करें

Dainik Bhaskar

Sep 15, 2019, 02:45 PM IST

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को मोदी सरकार पर निशाना साधा। इंटरनेशनल डेमोक्रेसी डे पर उन्होंने कहा कि देश में सुपर इमरजेंसी जैसे हालात हैं। भाजपा ने इस बयान के जवाब में कहा कि ममता बनर्जी को आत्मनिरीक्षण करना चाहिए। पार्टी प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा वास्तव में सुपर इमरजेंसी तृणमूल चीफ ममता के बंगाल में है, जहां जय श्री राम का नारा लगाने पर ही जेल में डाल दिया जाता है।

 

ममता ने ट्वीट कर लोगों से अधिकारों को बचाने और संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करने की प्रतिज्ञा लेने की अपील की। उन्होंने लिखा- ‘‘सुपर इमरजेंसी के इस दौर में आइए एक बार फिर से उन संवैधानिक मूल्यों की रक्षा की शपथ लें, जिन पर देश की स्थापना हुई थी। हमें संविधान जिन अधिकारों और आजादी की गारंटी देता है उनकी रक्षा करने के लिए अवश्य सब कुछ करना होगा।’’ 

 

 

ममता जरूर देखें, उन्होंने बंगाल में क्या किया- भाजपा

भाजपा प्रवक्त नलिन ने कहा- ममता बनर्जी को आत्म निरीक्षण करना चाहिए। सुपर इमरजेंसी वह चीज है, जो उन्होंने लागू की है। अगर कोई व्यक्ति बंगाल में जय श्री राम का नारा लगाता है तो उसे जेल में डाल दिया जाता है। उन्हें यह देखना चाहिए कि उन्होंने बंगाल में क्या कर रखा है। लोग वहां शांति और खुशहाली चाहते हैं। 

 

ममता कई मौकों पर कर चुकी है केंद्र की आलोचना

ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अक्सर आलोचना करती हैं। वे कई मौकों पर केंद्र सरकार पर देश के संवैधानिक संस्थानों की स्वायत्तता को छीनने का आरोप लगा चुकी है। पश्चिम बंगाल में केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई पर भी वह सवाल उठा चुकी हैं। ममता बनर्जी ने हाल ही में कहा है कि वह असम की तर्ज पर पश्चिम बंगाल में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (एनआरसी) लागू नहीं होने देंगी। 

 

DBApp





Source link