• हॉस्टल फीस में इजाफा के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्र
  • पुलिस ने संसद मार्च निकाल रहे छात्रों पर भांजी थी लाठी

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ से मंगलवार को मुलाकात की और जेएनयू में चल रहे छात्रों के विरोध प्रदर्शन को लेकर चर्चा की. अमित शाह ने जेएनयू में शांति बहाल करने के लिए मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा उठाए गए कदमों पर भी चर्चा की. इसके बाद अमित शाह ने जेएनयू विवाद का समाधान खोजने और विरोध प्रदर्शन खत्म करने के लिए केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री पोखरियाल को निर्देश दिया.

आपको बता दें कि हॉस्टल फीस में इजाफा को लेकर जेएनयू के छात्र लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. सोमवार को जेएनयू के छात्रों ने संसद तक मार्च निकालने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस ने बीच में ही उन्हें रोक दिया था. इस दौरान छात्रों और पुलिस के बीच नोकझोंक देखने को मिली थी. इसके बाद पुलिस ने छात्रों पर लाठियां भांजी थी और कई छात्रों को हिरासत में लिया. पुलिस की कार्रवाई में कई छात्र घायल हो गए थे.

जेएनयू के छात्र उस समय संसद तक मार्च निकालने की कोशिश कर रहे थे, जब सोमवार को संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा था. दिल्ली पुलिस ने छात्रों को रोकने के लिए बैरिकेड्स लगा रखे थे और जेएनयू परिसर के आसपास सुरक्षाबलों की भारी संख्या में तैनाती की गई थी. इसके अलावा धारा 144 लागू कर दी गई थी. इस धारा के तहत चार से अधिक लोग एक स्थान पर इकट्ठा नहीं हो सकते हैं.

वहीं, जेएनयूएसयू ने बयान जारी कर कहा कि 18 नवंबर को इस देश के सभी छात्रों और युवाओं के लिए एक ऐतिहासिक दिन के रूप में याद किया जाएगा और सीधे गृह मंत्रालय द्वारा नियंत्रित दिल्ली पुलिस और उसकी कार्रवाई बेहद निंदनीय है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS





Source link