सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों का एक कोलाज वायरल हो रहा है जिसमें एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तमाम तरह के शाही व्यंजनों का लुत्फ उठा रहे हैं और दूसरी तरफ एक भूखी महिला एक सूखाग्रस्त बच्चा गोद में लिए बैठी है.

फेसबुक यूजर ‘Bhupinder Singh Raju’ ने यह तस्वीर पोस्ट की है, जिसमें हिंदी में कैप्शन लिखा है, ‘अकलमंदों को बहुत कुछ कहती है यह तस्वीर’.

74402978_2451487061785929_3391483971387785216_n_120319113612.jpg

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह पोस्ट भ्रामक है. एक तरफ पीएम मोदी की तस्वीर को फोटोशॉप किया गया है, वहीं दूसरी तरफ गोद में बच्चा लिए महिला की तस्वीर अफ्रीका की है.

स्टोरी लिखे जाने तक इस पोस्ट को 25 हजार से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं. पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

पोस्ट के कमेंट सेक्शन में कई लोगों ने पीएम मोदी की आलोचना की है कि बहुत से भारतीय गरीबी और भुखमरी का शिकार हैं, तब वे ऐसे शाही व्यंजनों का आनंद ले रहे हैं. दोनों तस्वीरों को अलग करके रिवर्स सर्च करने पर हमें इन तस्वीरों की सच्चाई पता चल गई.

भोजन करते मोदी जिस तस्वीर में पीएम मोदी को शाही व्यंजनों का लुत्फ लेते दिखाया गया है वह फोटोशॉप की मदद से तैयार की गई है. यह तस्वीर पिछले कुछ महीनों से वायरल हो रही है.

इससे पहले कांग्रेस नेता संजय निरूपम भी यह तस्वीर ट्वीट  कर चुके हैं. इस तस्वीर के साथ किए जा रहे दावे को फैक्ट चेक वेबसाइट ‘Boom Live ‘ खारिज कर चुकी है.

वायरल तस्वीर

modi-individual_120319113757.png

असली तस्वीर वेबसाइट ‘Timescontent.com’  पर देखी जा सकती है. इस फोटो के विवरण में लिखा गया है, ’12 नवंबर, 2008 को गुजरात के गांधीनगर में पत्रकारों के लिए आयोजित वार्षिक दिवाली लंच पार्टी में भोजन करते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी.’

पीएम मोदी की असली तस्वीर में देखा जा सकता है कि उनके सामने की मेज तमाम व्यंजनों से पूरी तरह भरी नहीं है, जैसा फोटोशॉप्ड तस्वीर में दिखाया गया है.

असली तस्वीर

modi-real_120319113919.png

बच्चे के साथ भूखी महिला

इस पोस्ट को देखकर फेसबुक पर कई लोगों का मानना है कि कोलाज में बच्चे के साथ मौजूद भूखी महिला भारतीय है.

africa-fake_120319113950.png

रिवर्स सर्च की मदद से हमने पाया कि यह तस्वीर अफ्रीका की है. गेटी इमेज पर यह तस्वीर मौजूद है, जहां पर इसके कैप्शन में लिखा है, ‘अपने भूखे को गोद में लिए एक मां’. गेटी इमेज के मुताबिक, यह तस्वीर 1992 में David Turnley ने खींची थी.

gettyimages-635934783-2048x2048_120319114124.jpg

इस तरह साबित होता है कि वायरल कोलाज में शाही व्यंजनों का आनंद लेते हुए पीएम मोदी की जो तस्वीर है, वह फोटोशॉप की मदद से तैयार की गई है. दूसरी ओर गोद में बच्चा लिए हुए जो भूखी महिला दिख रही है वह तस्वीर अफ्रीका की है. इस तरह यह पोस्ट और इसके साथ किया जा रहा दावा पूरी तरह भ्रामक है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS





Source link