• चव्हाण बोले हमारा पहला मिशन पूरा हुआ
  • अब अगले स्टेप पर बात होनी चाहिए: चव्हाण

महाराष्ट्र में चुनाव परिणामों के बाद नई सरकार के गठन में आया गतिरोध खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. आखिरकार शुक्रवार शाम महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया. इस घटनाक्रम के बाद ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी ने सरकार गठन की अपनी यथासंभव कोशिशें कर ली हैं और अब वह अन्य दलों के रुख का इंतजार करना चाहती है. वहीं दूसरी ओर शिवसेना अपनी शर्तों पर अभी भी अडिग है.

पृथ्वीराज चव्हाण ने की शरद पवार से मुलाकात

इस बीच महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार से मुलाकात भी की. यह मुलाकात इसलिए अहम है क्योंकि अगर बीजेपी-शिवसेना की महायुति की सरकार नहीं बनती तो एनसीपी और कांग्रेस का रुख ही अगली सरकार की तस्वीर साफ करेगा .

हमारा पहला मिशन पूरा हुआ: चव्हाण

मुलाकात के बाद पृथ्वीराज चव्हाण ने आजतक से कहा, “बीजेपी को सत्ता से दूर रखना हमारा पहला मिशन था वह तो पूरा हो गया. अब अगले स्टेप पर बात होनी चाहिए.” उन्होंने आगे कहा, “अगर बीजेपी सरकार नहीं बनाती है तो राज्यपाल को दूसरे बड़े दल को सरकार बनाने का न्यौता देना चाहिए. हम उसके बाद देखेंगे कि हमें क्या करना है.”

फडणवीस ने किया था उद्धव पर हमला

इस्तीफे के बाद देवेंद्र फडणवीस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की . शिवसेना पर ‘विश्वासघात’ का आरोप लगाते हुए फडणवीस ने कहा, “मैं उनसे मिलने भी गया, फोन भी किया लेकिन उन्होंने एक भी फोन रिसीव नहीं किया. रिजल्ट आने के बाद कांग्रेस और एनसीपी से लगातार चर्चा की लेकिन हमसे बात भी नहीं की.” इसके साथ ही शिवसेना के अन्य नेताओं के व्यवहार पर उंगली उठाते हुए फडणवीस ने कहा, “उद्धव ठाकरे के आसपास के लोग जिस तरह बात करते हैं उस तरह की बात से सरकार नहीं बनती. बातचीत से विवाद सुलझ सकता था. कुछ लोगों ने रिजल्ट आने के दिन से ही बयानबाजी शुरू कर दी थी.”

उद्धव ने यूं किया पलटवार

फडणवीस के फोन वाली बात का जवाब देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि मेरे पास वक्त था और मैं बात कर सकता था लेकिन मैं झूठ बोलने वालों से बात नहीं करता. पीएम मोदी मुझे छोटा भाई कहते हैं और बीजेपी ने मुझे ठग लिया. लोगों को अमित शाह एंड कंपनी पर कोई भरोसा नहीं है. आगे गलती नहीं करूंगा. इसके साथ ही बीजेपी को अल्टीमेटम देते हुए उद्धव ने कहा कि बीजेपी सरकार बनाए नहीं तो हमारे विकल्प खुले हैं. महाराष्ट्र को सरकार की जरूरत है क्योंकि किसान सूखे और अतिवृष्टि से परेशान हैं. सवालों के जवाब देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी से मैंने अभी तक बात नहीं की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS





Source link