• 106 दिन बाद जेल से बाहर आए पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम
  • बेटे कार्ति चिदंबरम, पिता को लेने पहुंचे थे तिहाड़ जेल

आईएनएक्स मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को आज 4 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई. तिहाड़ जेल से जमानत पर छूटने के बाद चिदंबरम सीधे सोनिया गांधी से मुलाकात करने उनके आवास 10 जनपथ पहुंचे. जेल से छूटने के बाद चिदंबरम ने कहा, “106 दिनों के बाद आजादी की हवा में सांस लेना सुखद है.”

जांच एजेंसियों और जेल की हिरासत में 106 दिन बिताने के बाद, पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम को बुधवार को रात 8.15 बजे के आसपास तिहाड़ जेल से रिहा कर दिया गया. यह पी चिदंबरम के लिए एक बड़ी राहत है, जिन्हें सीबीआई ने 21 अगस्त को उनके जोर बाग स्थित निवास से गिरफ्तार किया था. अब सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें आईएनएक्स मीडिया मामले में जमानत दे दी है.

जेल से बाहर आने के बाद, चिदंबरम ने मीडिया से कहा, “मैं गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करूंगा. मुझे खुशी है कि मैंने 106 दिनों के बाद आजादी की हवा में कदम रखा और सांस ली.” उम्मीद की जा रही है कि पी चिदंबरम गुरुवार को देश की आर्थिक स्थिति पर बात कर सकते हैं. इसके साथ ही वह मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना भी कर सकते हैं. पी चिदंबरम गुरुवार को संसद के शीतकालीन सत्र की कार्यवाही में भी हिस्सा ले सकते हैं.

पी चिदंबरम को रिसीव करने के लिए उनके बेटे कार्ति चिदंबरम समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस समर्थक तिहाड़ जेल पहुंचे थे. आजतक से बात करते हुए कार्ति चिदंबरम ने आरोप लगाते हुए कहा, “मेरे पिता के खिलाफ कोई मामला नहीं है. भाजपा उन पर निशाना साधती रही है. सोनिया गांधी और राहुल गांधी सहित कांग्रेस पार्टी ने बहुत सपोर्ट किया है.”

सुप्रीम कोर्ट ने पी चिदंबरम को जमानत देते हुए कहा कि ईडी द्वारा किए गए उस दावे को स्वीकार नहीं किया जिसमें कहा गया था चिदंबरम सबूतों के साथ छेड़छाड़ कर सकते हैं.कोर्ट का मानना था कि चिदंबरम न तो ‘राजनीतिक शक्ति’ में हैं और न ही सरकार में कोई पद रखते हैं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत पर कुछ शर्तें लगा दी हैं.

सुप्रीम कोर्ट की शर्तों के मुताबिक चिदंबरम का पासपोर्ट जब्त कर लिया जाएगा और उन्हें बिना अनुमति के देश छोड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी. वे मीडिया को कोई साक्षात्कार भी नहीं देंगे. साथ ही उन्हें इस मामले में पूछताछ के लिए उपलब्ध रहना होगा.

तारीखों में पी चिदंबरम की जेल यात्रा

20 अगस्त: दिल्ली उच्च न्यायालय ने पी चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी. CBI को कोर्ट से NBW मिला.

21 अगस्त: CBI ने चिदंबरम को उनके आवास से गिरफ्तार किया

22 अगस्त: सीबीआई ने उन्हें अदालत में पेश किया और कोर्ट ने उन्हें एजेंसी की हिरासत में भेज दिया

5 सितंबर: विशेष अदालत ने चौदह दिनों के लिए पी चिदंबरम को तिहाड़ जेल भेज दिया

30 सितंबर: दिल्ली उच्च न्यायालय ने उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी

15 अक्टूबर: एक विशेष अदालत ने ईडी को तिहाड़ जेल के अंदर पी चिदंबरम से पूछताछ करने और जरूरत पड़ने पर गिरफ्तार करने की अनुमति दी

16 अक्टूबर: ईडी ने तिहाड़ जेल के अंदर उससे पूछताछ की और आईएनएक्स मीडिया मामले में उन्हें गिरफ्तार कर लिया

17 अक्टूबर: कोर्ट ने 24 अक्टूबर तक पूर्व वित्त मंत्री का ईडी कस्टोडियल रिमांड दिया

18 अक्टूबर: सीबीआई ने आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिदंबरम और 13 अन्य के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया

21 अक्टूबर: सीबीआई अदालत ने एजेंसी की चार्जशीट को स्वीकार किया और 24 अक्टूबर को पी चिदंबरम को समन भेजा

22 अक्टूबर: SC ने INX मीडिया के CBI मामले में चिदंबरम को जमानत दी

23 अक्टूबर: आईएनएक्स मीडिया के ईडी मामले में जमानत के लिए चिदंबरम ने दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख किया

25 अक्टूबर: सीबीआई ने पी चिदंबरम को जमानत देने वाले सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ एक समीक्षा याचिका दायर की

15 नवंबर: दिल्ली उच्च न्यायालय ने चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज की

18 नवंबर: चिदंबरम ने HC के आदेश के खिलाफ SC का रुख किया

29 नवंबर: सुप्रीम कोर्ट ने ऑर्डर रिजर्व रखा

4 दिसंबर: सुबह 10:30 बजे, सुप्रीम कोर्ट ने ईडी के मामले में पी चिदंबरम को जमानत दी

4 दिसंबर: 8.15 बजे, पी चिदंबरम जेल से बाहर आए

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS





Source link